विशेष वार्ता

लाईव्ह अपडेट :  शुभवार्ता >>  बीकेवार्ता पाठक संख्या एक करोड के नजदिक -  दिनदूगीनी रात चौगुनी बढरही  पाठकसंख्या बीकेवार्ता की ---- पाठको को लगातार नई जानकारी देनें मेे अग्रेसर रही बीकेवार्ता , इसी नवीनता के लिए पाठको का आध्यात्तिक प्यार बढा ---- सभी का दिलसे धन्यवाद --- देखीयें हमारी नई सेवायें >>>  ब्रहमाकुमारीज द्वारा आंतरराष्टीय सेवायें  | ब्रहमाकुमारीज वर्गीकत सेवायें |आगामी कार्यक्रम | विश्व और भारत महत्वपूर्ण दिवस | विचारपुष्प |


 

संग्रहित समाचार

Visitor Meter

Articles View Hits
3538955

बी.के. अकादमी

बी.के. अकादमी

बी.के. अकादमी

एक बेहतर दुनिया के लिए अकादमी उच्च शिक्षा का एक संस्थान है, ब्रह्माकुमारीज् द्वारा स्थापित है. प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की भगीनी संस्था विश्वनवनिर्मिण आध्यात्मिक ट्रस्ट और राजयोग एज्युकेशन अॅण्ड रिसर्च फाउण्डेशन  है | ये दोनों भी मूल्यों में शिक्षा के माध्यम से समाज की सेवा कर रहे हैं | संस्था कई देशों में `ब्रह्माकुमारीज् आध्यात्मिक विश्वविद्यालय` के रूप में जाना जाता है. यह एक गौर सरकारी संगठन के रूप सें यूनिसेफ और आर्थिक एवं सामाजिक परिषद ने संयुक्त राष्ट्र के लिए है या सलाहकार के सदस्य के रूप जूटा है. वर्तमान में

 

बेहतर दुनिया के लिए उच्च शिक्षा ब्रह्माकुमारीज् अकादमी

तथ्य और आंकड़े

एक बेहतर दुनिया के लिए अकादमी उच्च शिक्षा का एक संस्थान है, ब्रह्माकुमारीज् द्वारा स्थापित है. प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की भगीनी संस्था विश्वनवनिर्मिण आध्यात्मिक ट्रस्ट और राजयोग एज्युकेशन अॅण्ड रिसर्च फाउण्डेशन  है | ये दोनों भी मूल्यों में शिक्षा के माध्यम से समाज की सेवा कर रहे हैं | संस्था कई देशों में `ब्रह्माकुमारीज् आध्यात्मिक विश्वविद्यालय` के रूप में जाना जाता है. यह एक गौर सरकारी संगठन के रूप सें यूनिसेफ और आर्थिक एवं सामाजिक परिषद ने संयुक्त राष्ट्र के लिए है या सलाहकार के सदस्य के रूप जूटा है. वर्तमान में, यह अधिक से अधिक 8000 शौक्षिक केन्द्रों और उप भारत में केंद्र और 80 अन्य देशों के बारे में जहां मूल्यों में शिक्षा, मानव संसाधन विकास, ध्यान, सकारात्मक सोच, आदि प्रदान किया जाता है |

एक बेहतर दुनिया के लिए अकादमी हिन्दी में इसे ज्ञान सरोवर विद्यापीठ कहतें है | इस शब्द का अर्थ है ज्ञान सरोवर, ज्ञान की झील. यह नाम हिमालय में मानससरोवर की याद दिलाता है, जो झील के बारे में किंवदंती है और मान्यता है कि, जो कोई उसमें स्नान करता वह एक परी या एक दूत के रूप में उभरता |

संस्था ने आबू के सांलगांव में एक आधुनिक आध्यात्मिक गांव का निर्माण किया है, प्राकृतिक स्थलाकृति किसीभी परेशान और अशांत मानव को शान्त कर देता है | मूल परिवेश को बिना क्षति पहूचाये, यहाँ पहाड़ों, गांव, शहरी जीवन और वन तत्वों का एक पर्यावरण संतुलनसे शान्ति तथा खुशी का मिश्रण देखने के अनुकूल माहौल तौयार किया हैं | यहाँ हैं आप कृत्रिम झीलों की एक जोड़ी मिल जाएगा. इस क्षेत्र में औद्योगिक धूम्रपान से बिल्कुल मुक्त तथा बड़े शहरों के शोर से एकदम दूर. बिजली के प्रदूषण से मुक्त करने के लिए सौर और पवन ऊर्जा का अच्छा इस्तेमाल यहाँ किया गया है. अकादमीमें संचार के कई आधुनिक साधनों का भी इस्तेमाल किया जाता है ताकि के रूप में संपर्क में बाहरी दुनिया के साथ हो.

नई टेक्नॉलॉजि(IT)

मनोरंजन